टोकियो जा रही , इंग्लिश और लिटरेचर में ग्रेजुएट शूटर ने उधार की राइफल से शूटिंग शुरू की थी

भारत से 15 शूटर टोकियो जा रहे हैं और इनमें से एक नाम एलावेनि वलारिवन का है। ये वही शूटर है जिसने इस साल अप्रैल में  दिल्ली वर्ल्ड कप में गोल्ड जीता और टोकियो जा रही हैं कोटे की बदौलत जगह की हकदार चिंकी यादव की कीमत पर। असल में  NRAI ने एलावेनि का चयन चार साल के ओलंपिक क्वालीफाइंग राउंड (2018 जकार्ता एशियाई खेल, 2018 में दो वर्ल्ड चैंपियनशिप, 2019 में चार वर्ल्ड कप, एशियाई चैंपियनशिप और क्वालीफाइंग इवेंट)  में उनके प्रदर्शन के आधार पर किया। 

 इलावेनि ने ख़ास तौर पर पिछले कुछ सालों में ISSF वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन किया था। इस टीम में इलोवेनि अकेली ऐसी शूटर हैं जिन्हें बिना किसी ओलंपिक कोटे टीम में चुना।  इलावेनि 10 मीटर एयर राइफल सिंगल्स और मिक्स्ड डबल्स (दिव्यांश सिंह पंवार के साथ) इवेंट में हिस्सा लेंगी। वे इस समय 10 मीटर एयर राइफल इवेंट में ओलंपिक रैंकिंग में नंबर 1 हैं। इस युवा जोड़ी ने हाल ही में दिल्ली में ISSF वर्ल्ड कप 2021 में मिक्स्ड इवेंट में गोल्ड जीता। इस जीत के साथ, इलावेनिल ने 10 मीटर एयर राइफल इवेंट में अपनी टॉप रैंकिंग को  बरकरार रखा।
 
कोई तो ख़ास बात होगी एलावेनि में ? आप भी देखिए : 

*  2017 नेशनल शूटिंग चैंपियनशिप : कई सीनियर को हराकर गोल्ड जीता।
*  उसी साल घुटने की चोट से जूझना पड़ा।
*  2018 ISSF जूनियर वर्ल्ड कप : अपने प्रदर्शन को चोट से प्रभावित नहीं होने दिया – गोल्ड जीता और वर्ल्ड रिकॉर्ड (जूनियर और सीनियर दोनों) तोड़ा।
*  2018 में दो अलग-अलग ISSF जूनियर वर्ल्ड कप : कुल तीन गोल्ड जीतकर खूब मशहूरी मिली।
*  चांगवोन 2018 ISSF वर्ल्ड चैंपियनशिप : सिल्वर। 
*  2019 में रियो डी जनेरियो और पुतिन ISSF वर्ल्ड कप : गोल्ड। 
*  ताओयुआन 2019 एशियाई एयरगन चैंपियनशिप : गोल्ड।   
*  2019 में सुही : एक और जूनियर वर्ल्ड कप गोल्ड।

*  2019 ISSF वर्ल्ड कप फाइनल : गोल्ड और नंबर 1 रैंक जो आज तक बरकरार है।

*  नई दिल्ली ISSF वर्ल्ड कप 2021: भारतीय निशानेबाजों के लिए टोकियो ओलंपिक के लिए आखिरी इवेंट – 10 मीटर एयर राइफल सिंगल्स फाइनल के लिए क्वालीफाई करने में नाकामयाब पर मिक्स्ड इवेंट में गोल्ड।

21 साल की ये शूटर तमिलनाडू की रहने वाली है- कुड्डालोर की। अब गुजरात में रहती है। खेल हमेशा उसके जीवन का हिस्सा रहे हैं – भले ही वह पढ़ाई पर ज्यादा ध्यान देने वाले परिवार से है। गज़ब का पढ़ाई वाला परिवार – माता-पिता दोनों के पास डॉक्टरेट (पीएचडी डिग्री) है। एलावेनि खुद इंग्लिश और लिटरेचर में ग्रेजुएट है। पेशेवर शूटिंग से पहले, एलावेनि लॉन्ग डिस्टेंस एथलीट और रेसर थी। 2014 में, उनके भाई ने शूटिंग से जोड़ा और उधार की राइफल से सफर शुरू हुआ। उसी साल ओलंपियन गंगन नारंग की गन फॉर ग्लोरी एकेडमी के “प्रोजेक्ट लीप” में शामिल कर लिया गया।

 
ग्रेसनोट स्पोर्ट्स ने टोकियो ओलंपिक 2021 में संभावित स्वर्ण पदक विजेता के तौर पर एलावेनि वलारिवन के नाम की भविष्यवाणी की है। उम्मीद है एलावेनि इसे टोकियो ओलंपिक में जरूर याद रखेगी। देश उनसे मैडल की उम्मीद लगा रहा है।  
 
– चरनपाल सिंह सोबती
Show Buttons
Hide Buttons