These former big players likely to play in domestic cricket….

नया साल सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के साथ भारत का घरेलू क्रिकेट सीजन शुरू कर रहा है

2020 का कोविड प्रभावित साल ख़त्म होने से पहले भारत ने इंटरनेशनल क्रिकेट खेलना तो शुरू कर दिया लेकिन भारत से बाहर। भारत में क्रिकेट लौट रही है नए साल में टी 20 टूर्नामेंट सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के साथ। एक बार को तो ऐसा ही लगा था कि 2020- 21 का सीजन बिना घरेलू क्रिकेट निकल जाएगा पर भला हो कुछ तो क्रिकेट बोर्ड की हिम्मत और कुछ आईपीएल की जरूरत का कि टी 20 की मैच प्रैक्टिस के लिए सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी खेल रहे हैं। टूर्नामेंट 10 जनवरी से शुरू है और 31 जनवरी को फाइनल होगा।

बोर्ड ने राज्य क्रिकेट एसोसिएशन से पूछा था कि वे 2020-21 के घरेलू सीजन में कौन से टूर्नामेंट को आयोजित करना चाहेंगे तो ज्यादा वोट सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के लिए थे। बायो बबल में रणजी ट्रॉफी जैसा बड़ा और पूरे देश में फैला टूर्नामेंट आयोजित करना आसान नहीं।
तो नतीजा ये है कि अहमदाबाद सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी 2020-21 के नॉकआउट की मेजबानी करेगा, जबकि बेंगलुरु, कोलकाता, वडोदरा, इंदौर, मुंबई और चेन्नई ग्रुप मैचों के लिए 6  सेंटर हैं। 38 टीमों को पांच एलीट ग्रुप और एक प्लेट  ग्रुप में बांटा है, जिसमें पिछले चैंपियन कर्नाटक को एलीट ग्रुप A में जगह दी है और वे बेंगलुरु में अपने मैच खेलेंगे।क्रिकेटरों को 2, 4 और 6 जनवरी को कोविड -19 टेस्ट के तीन दौर से गुजरना होगा और तब ट्रेनिंग कर सकेंगे। नॉकआउट से पहले 20 और 22 जनवरी को दो टेस्ट और  होंगे।
लगभग पांच साल बाद अहमदाबाद में बड़ी क्रिकेट की वापसी हो रही है- मोटेरा में आखिरी इंटरनेशनल मैच नवंबर 2014 में श्रीलंका के खिलाफ वन डे था और आखिरी घरेलू मैच 2015 में आईपीएल मैच था। सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के मैच खेलना एक तरह से रिहर्सल होगा इस साल भारत और इंग्लैंड के बीच टी 20I सीरीज तथा तीसरे और चौथे टेस्ट के आयोजन की।  टूर्नामेंट शुरू होने से पहले की टूर्नामेंट से जुड़ी कुछ ख़ास बातें :
*युवराज सिंह को बोर्ड ने टूर्नामेंट में खेलने का एनओसी नहीं दिया – वे पंजाब के संभावित खिलाड़ियों में थे। इस तरह रिटायर होने के बाद युवराज वापसी नहीं करेंगे।
*धोनी नहीं खेल रहे सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी में यानि कि फिर से बिना मैच प्रैक्टिस आईपीएल 2021 खेलेंगे। धोनी ने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लिया तो साथ में ये भी कहा था कि इंडियन प्रीमियर लीग में चेन्नई सुपर किंग्स के लिए अभी खेलेंगे।इसी से लगा था कि टी 20 में मैच प्रैक्टिस के लिए झारखण्ड की टीम  में खेलेंगे।
*सुरेश रैना भी रिटायर हुए थे पर सुरेश रैना ने कह दिया है कि वे खेलेंगे (उत्तर प्रदेश के लिए)। सुरेश रैना को मैच प्रैक्टिस की और भी ज्यादा जरूरत है क्योंकि वे तो आईपीएल 2020 में भी नहीं खेले थे।
* फिर से इंटरनेशनल क्रिकेट में दावेदारी साबित करने के लिए इशांत शर्मा एक्शन में लौट रहे हैं – 32 साल के इशांत दिल्ली की टीम में हैं।
  * भूतपूर्व भारतीय तेज गेंदबाज एस श्रीसंत लगभग आठ साल  बाद अच्छे दर्ज़े की औपचारिक  क्रिकेट में वापसी कर रहे हैं। वे केरल के टीम में हैं।2013 आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग के आरोपी श्रीसंत लंबी कानूनी लड़ाई के बाद खेलने का हक़ पा सके।
*तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार को आईपीएल के दौरान लगी जांघ की चोट से ठीक घोषित कर दिया नेशनल क्रिकेट एकेडमी ने और फटाफट सैयद मुश्ताक अली ट्रॉफी के पहले दो मैचों के लिए उत्तर प्रदेश ने टीम में चुन लिया। उनकी फिटनेस देखकर आगे का फैसला होगा।
* घरेलू सीजन का पहला विवाद बिहार क्रिकेट के साथ देखने को मिल सकता है क्योंकि बिहार क्रिकेट एसोसिएशन (बीसीए) के दो अलग अलग ग्रुप ने अपनी अपनी टीम चुन ली है – इस दावे के साथ कि उनकी टीम एसोसिएशन की वास्तविक प्रतिनिधि है। एक ग्रुप ने आशुतोष अमन तो दूसरे ने केशव कुमार को कप्तान बनाया।
बोर्ड  सैयद मुश्ताक अली टूर्नामेंट के महत्व को जानता है क्योंकि यही टूर्नामेंट आईपीएल के लिए मैच प्रैक्टिस है और साथ ही साथ आईपीएल नीलाम से पहले टीम मैनेजमेंट को नए खिलाड़ियों की टैलेंट के बारे में पता लगता है। इसका सफल आयोजन इंग्लैंड के विरुद्ध सीरीज की हिम्मत देगा।
 
– चरनपाल सिंह सोबती