Now Concussion substitute in this big sport also!

कई डेमेंशियाऔर क्रिकेट को देखने के बाद फीफा भी कनकशन सब्सटीटयूट के लिए तैयार 

 
कतर में अगले महीने फुटबॉल क्लब वर्ल्ड कप शुरू हो रहा है और फीफा इसमें कनकशन सब्सटीटयूट (यानि कि सिर पर लगने वाली चोट की वजह से) शुरू कर रहा है।अगर प्रयोग कामयाब रहा तो वह दिन दूर नहीं जब क्रिकेट की तरह से फुटबॉल में भी कनकशन सब्सटीटयूट खेल का ख़ास हिस्सा बन जाएंगे। क्लब वर्ल्ड कप 1-11 फरवरी तक खेला जाएगा और इसमें जो कनकशन सब्सटीटयूट नज़र आएंगे वे मौजूदा नियम वाले सब्सटीटयूट से अलग होंगे। 
 
इंग्लैंड की प्रीमियर लीग भी इस प्रयोग के लिए तैयार है और फीफा ने संकेत दे दिया है कि वे इसे टोकियो ओलंपिक में भी शुरू करने के लिए तैयार है।वैसे भी क्लब वर्ल्ड कप में सब्सटीटयूट का नया नियम होगा और कोविड के कारण मैच में 3 के बजाय 5 सब्सटीटयूट की इजाजत है। खिलाड़ियों की सुरक्षा के लिए ऐसा किया जा रहा है। हाँ, टीमों के पास खेल के दौरान बदलाव  के लिए सिर्फ तीन ही मौके  होंगे, हाफ़टाइम के अतिरिक्त। 
 
वैसे तो फुटबॉल ने अपने इतिहास में कनकशन के कई किस्से और कई खिलाडियों को सिर की चोटों की वजह से जान गंवाते देखा पर पिछले साल अक्टूबर में 78 साल की उम्र में
इंग्लैंड के फीफा वर्ल्ड कप विजेता मिडफील्डर नोबी स्टाइल्स की मौत ने इस मामले में फिर से सोचने पर मजबूर कर दिया। डॉक्टरों ने कहा कि नोबी की मौत बार-बार गेंद सिर में लगने से  से दिमाग को हुए नुक्सान से  हुई।1966 में वर्ल्ड कप विजेता टीम में खेलने वाले नोबी के साथी जैक और बॉबी चार्लटन भी डेमेंशिया के शिकार की लिस्ट में हैं।नोबी के दिमाग को बार बार हैडर के कारण चोट लगती रही पर वे खेलते रहे।पेशेवर फुटबॉलर्स एसोसिएशन (PFA) ने भी अलग अलग क्लब, लीग और इंग्लिश फुटबॉल में सभी से ट्रेनिंग और खेल के दौरान खिलाड़ियों की हेल्थ और सुरक्षा को सबसे ज्यादा महत्व देने के लिए कहा है।अगर पिछले साल स्पोर्टस में कनकशन पर 6 वीं इंटरनेशनल कांफ्रेंस कोविड के कारण एक साल के लिए न टाल दी गई होती तो हो सकता है और भी कई नई बातें पता लगतीं पर हाल फिलहाल डेमेंशिया और क्रिकेट में हुई शुरूआत से सबक लेकर फीफा ने शुरूआत कर दी है।
 
क्रिकेट में भी, भले ही पुकोवस्की ने सिडनी में अपना टेस्ट करियर शुरू कर लिया पर इस बात को कैसे भूल जाएं कि 22 साल का ये क्रिकेटर अब तक 9 बार कनकशन की वजह से पिच से हटाया जा चुका है। डॉक्टर भी सही सही नहीं बता पाए हैं कि लंबे दौर में इसका कितना नुक्सान होगा?
 
इस साल के क्लब वर्ल्ड कप पर लौटते हैं। 6 कॉंटिनेंटल कनफेडेरशन के साथ-साथ मेजबान देश की लीग चैंपियन टूर्नामेंट में खेलेंगी और मैच तीन फीफा वर्ल्ड कप कतर 2022 स्टेडियम में होंगे – अहमद बिन अली, खलीफा इंटरनेशनल और एजुकेशन सिटी।

अहमद बिन अली स्टेडियम का उद्घाटन 18 दिसंबर को 2020 को ही तो हुआ था।1 फरवरी को कतर चैंपियन अल दुहैल और न्यूजीलैंड के ऑकलैंड सिटी के बीच उद्घाटन मैच  खेला जाएगा जाएगा और फाइनल 11 फरवरी को एजुकेशन सिटी स्टेडियम में  होगा। टूर्नामेंट के लिए आखिरी  ड्रॉ 19 जनवरी को ज्यूरिख में होगा।ये क्लब टूर्नामेंट वास्तव में कतर 2022 के लिए रिहर्सल और कमियों को दूर करने का का मौका  साबित होगा।
 
फीफा वर्ल्ड कप फाइनल से ठीक दो साल पहले कतर ने 40,000 सीट की क्षमता वाले अहमद बिन अली स्टेडियम का उद्घाटन किया। ये एक पुराने स्टेडियम का नया रूप है और इसकी खासियत है रिसाइक्लिंग किए सामान का इसे बनाने में प्रयोग।एजुकेशन सिटी स्टेडियम, जिसका निकनेम ‘डायमंड इन द डेजर्ट’ है, इस्लामी वास्तुकला के समृद्ध इतिहास से प्रेरित है और इसे आधुनिकता के साथ मिला दिया है। तीसरा स्टेडियम -खलीफा अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम होगा जिसे कतर के राष्ट्रीय स्टेडियम के रूप में भी गिना जाता है। इसे भी नया किया गया है। यहीं पिछले टूर्नामेंट का फाइनल खेला गया था और इंग्लिश क्लब लिवरपूल एफसी ने 45,000 से ज्यादा दर्शकों के सामने पहली बार टाइटल जीता था ।
 
– चरनपाल सिंह सोबती