What is the new important aspect of Khelo India project which will be crucial for players!

यह कोशिश एक बहुत बड़ी कमी को दूर करेगी 
आईपीएल 2020 में कोलकाता नाइट राइडर्स का सफर चाहे जैसा भी रहा,उसमें वरुण चक्रवर्ती की बेहतरीन गेंदबाज़ी के योगदान को नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता।इसीलिए उन्हें एकदम ऑस्ट्रेलिया टूर के लिए टी -20 आई टीम में भी शामिल कर लिया गया।ये बात अलग है कि फिट न होने के कारण वे ऑस्ट्रेलिया नहीं गए।यहाँ मैं वरुण चक्रवर्ती के नाम के साथ जुड़ी एक ख़ास बात का जिक्र कर रहा हूँ जिस पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया गया।वे इंजीनियर हैं – एक आर्किटेक्ट।आजकल जबकि क्रिकेटर पढ़ाई – लिखाई में बहुत पीछे होते जा रहे हैं तो एक आर्किटेक्ट का टॉप क्रिकेट खेलना क्या हैरानी की बात नहीं ? 
कभी किसी ने नहीं पूछा कि महेंद्र सिंह धोनी या विराट कोहली ने कितनी पढ़ाई की? जब वे टीम में बढ़िया क्रिकेट खेल रहे हैं तो पढ़ाई – लिखाई पर कौन ध्यान दे? ये बात सिर्फ क्रिकेटरों पर ही नहीं,सभी खेलों के खिलाड़ियों पर लागू है।अगर कम उम्र से खेलों में जुट जाएंगे तो ये तय है कि पढ़ाई – लिखाई पिछड़ेगी।महेंद्र सिंह धोनी या विराट कोहली जैसे ज्यादा न पढ़ने के बावजूद इंटरव्यू में अच्छी इंग्लिश बोल लेते हैं इसलिए उनका कोई बड़ी डिग्री न लेना महसूस नहीं होता पर जब इंटरनेशनल खेल मेलों में और दूसरे खेलों के खिलाड़ी इंटरव्यू में इंग्लिश  नहीं बोल पाते तो उनका ज्यादा न पढ़ पाना महसूस होता है।कई खिलाड़ियों ने खुद इस कमी को माना और उनके मन में यह कसक है कि खेलने में लगे रहने के कारण वे ज्यादा पढ़ – लिख नहीं पाए। इस बात को बहरहाल सरकार ने ,न सिर्फ महसूस किया,खिलाड़ियों की मदद के लिए एक ख़ास प्रोजेक्ट भी बनाया है।मिनिस्ट्री ऑफ़ यूथ अफेयर्स एंड स्पोर्टस की एक कमेटी ने नेशनल स्पोर्टस एजुकेशन बोर्ड का एक ब्लू प्रिंट तैयार किया है जो पढ़ाई का ऐसा स्वरुप बना रहा है जिसमें खेलों में रुचि रखने वाले बच्चों को उन सभी सब्जेक्ट को पढ़ने का मौका तो मिलेगा ही , जिन्हें हम बड़ी बड़ी डिग्री के लिए जरूरी मानते हैं,तो साथ ही एक/दो खेलों से जुड़े सब्जेक्ट लेने का मौका भी देगा। इसके लिए ख़ास स्कूल होंगे जहाँ पढ़ाई और खेल की ऊंचे दर्ज़े की ट्रेनिंग साथ-साथ चलेगी।इस बात का पूरा ध्यान रखा जाएगा कि ऐसे स्कूल के बच्चों को आम स्कूल के बच्चों की तुलना में चूंकि पढ़ने का कम समय मिलेगा – इसलिए सिलेबस भी उसी हिसाब से बनेगा।ये बोर्ड अपने अलग क्लास X और क्लास XII के इम्तहान कराएगा।मिनिस्ट्री ने इस काम के लिए इस साल जनवरी में ही 10 सदस्य वाली ये कमेटी बनाई थी और अब मंजूरी के लिए उनकी रिपोर्ट को आखिरी शक्ल दी जा रही है। 
इस कमेटी ने कई बड़े देशों में खिलाड़ियों की पढ़ाई के सिस्टम की स्टडी के बाद ,भारतीय माहौल के हिसाब से ये ब्लू प्रिंट तैयार किया है।खेलो और साथ साथ पढ़ाई में भी आगे बढ़ना है। ये प्रोजेक्ट ‘खेलो इंडिया स्कीम’ का ही एक हिस्सा है। 
– चरनपाल सिंह सोबती 

SPORTSNASHA
www.sportsnasha.com is a venture of SRC SPORTSNASHA ADVISORS PVT LTD. It is a website dedicated to all sports at all levels. The mission of website is to promote grass root sports.
http://www.sportsnasha.com