किसी से कम नहीं,पर कहीं नाम भी नहीं ये खिलाड़ी आईपीएल 2020 में खेल रहे हैं

आईपीएल 2020 के बीच जिस मुद्दे की सबसे ज्यादा चर्चा है इन दिनों वह है ऑस्ट्रेलिया टूर के लिए किसे चुना और किसे नहीं चुना।कई खिलाड़ियों का नाम चर्चा में है इस मामले में और उनके आईपीएल रिकॉर्ड का दलील के तौर पर खूब जिक्र हो रहा है। हैरानी है कि इस संदर्भ में एक खिलाड़ी ऐसा है जिसका कहीं जिक्र नहीं,हालांकि वह किसी से कम नहीं। क्यों? कोई नहीं जानता।
ये खिलाड़ी हैं आईपीएल 2020 में सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेल रहे दाएं हाथ के मध्यम तेज गेंदबाज संदीप शर्मा।24 अक्टूबर के किंग्स इलेवन पंजाब बनाम सनराइजर्स हैदराबाद मैच के दौरान संदीप शर्मा ने आईपीएल में 100 विकेट पूरे किए और 30 अक्टूबर तक रिकॉर्ड 103 विकेट है।  2013 से आईपीएल खेल रहे, संदीप शर्मा के जिक्र में कुछ ख़ास बातें नोट कीजिए :
 
* उनके आईपीएल में आने के बाद (पहला मैच:11 मई 2013) ,आईपीएल में विकेट की गिनती में सबसे कामयाब भारतीय गेंदबाज़ :118 – युजवेंद्र चहल ,113 – भुवनेश्वर कुमार ,103 –  संदीप शर्मा और 102 – जसप्रीत  बुमराह। 
* आईपीएल में 100+ विकेट लेने वाले भारतीय पेसर :136 – भुवनेश्वर कुमार,119 – उमेश यादव ,106 – आशीष नेहरा,105 – विनय कुमार,103 – संदीप शर्मा,102 – जहीर खान और 102 – जसप्रीत बुमराह। 
सभी रिकॉर्ड 30 अक्टूबर 2020 तक। 
 
ये दोनों रिकॉर्ड अपने आप संदीप शर्मा की कामयाबी के बारे में बता देते हैं,फिर भी उनका कहीं जिक्र क्यों नहीं? इन दोनों लिस्ट का हर नाम ,सिर्फ संदीप शर्मा का नाम छोड़कर , हाल के सालों में भारतीय गेंदबाज़ी में खूब चर्चा में रहा।ये बात संदीप शर्मा के बारे में नहीं कह सकते। इंटरनेशनल क्रिकेट के नाम पर इतना ही कहा जाएगा कि 2015 में दो टी 20 खेले जिनमें 42 गेंद में 1 विकेट लेने के बाद टीम से निकाल दिए गए और उसके बाद चयनकर्ताओं की हर लिस्ट से बाहर कर दिए गए।आईपीएल में 100+ विकेट लेने वाले भारतीय पेसर में सबसे कम ग्लैमर वाला नाम उनका है। बहरहाल वे इस सबसे प्रभावित हुए बिना लगातार वह काम कर रहे हैं जिसके लिए उन्हें पहचाना जाता है यानि कि विकेट लेना। 
 
पंजाब के दाएं हाथ के मध्यम तेज गेंदबाज,संदीप शर्मा  का नाम पहली बार 2012 के अंडर -19 आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप के दौरान चमका।फाइनल में ऑस्ट्रेलिया के विरुद्ध उनके चार विकेटों ने भारत की जीत में बड़ी ख़ास भूमिका निभाई और 12 विकेट के साथ टूर्नामेंट में भारत के सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज़ थे – रविकांत सिंह के बराबर।2011 में प्रथम श्रेणी क्रिकेट खेलना शुरू किया और आईपीएल 2013 से पहले किंग्स इलेवन पंजाब के साथ कॉन्ट्रेक्ट किया – सनराइजर्स हैदराबाद के विरुद्ध अपने पहले आईपीएल मैच में 3- 21 की गेंदबाज़ी की थी।
उनकी गेंद को स्विंग करने की खूबी की विशेषज्ञों ने खूब तारीफ की है।आईपीएल 2017 में 4/20 के  सबसे बेहतर गेंदबाजी के रिकॉर्ड के साथ 17 विकेट लिए।अब सनराइजर्स के लिए खेलते हैं और आमतौर पर भुवनेश्वर कुमार के साथ नए गेंद की ड्यूटी करते हैं। तो कैसे कम है संदीप शर्मा का दावा?
 
फिर भी कहीं जिक्र नहीं। 
 
– चरनपाल सिंह सोबती