कोई टैस्ट मैच नहीं खेले जा रहे तो एलन जोंस को इंग्लैंड ने टैस्ट कैप कैसे दी ?


पिछले महीने की 17  तारीख को ECB यानि कि इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड ने एलन जोंस नाम के एक क्रिकेटर को 696 नंबर की इंग्लैंड कैप दी। कोई मैच नहीं चल रहे तो जोंस अब टैस्ट  क्रिकेटर कैसे बन गए कि उन्हें  ऑफिशियल टैस्ट क्रिकेटर  नंबर दिया और कैप भी ? ये बड़ा अजीब और रहस्यमय किस्सा है। 
असल में जोंस 17  जून 1970 से लॉर्ड्स के इंग्लैंड – रैस्ट ऑफ़ द  वर्ल्ड इलेवन मैच में खेले थे। तब ये ऑफिशियल टैस्ट  गिना गया था और जोंस ने डेब्यू किया। उन्हें वह कैप , टाई और ब्लेजर मिले जो किसी भी टैस्ट क्रिकेटर को मिलते हैं। उस समय इंग्लैंड में क्रिकेट को TCCB  यानि कि टैस्ट एंड काउंटी क्रिकेट बोर्ड चलाते थे।  उन्होंने सीरीज के सभी 5  मैच के टिकट ऑफिशियल  टैस्ट कहकर ही बेचे। रैस्ट ऑफ़ द  वर्ल्ड इलेवन के कप्तान गैरी सोबर्स ने हमेशा कहा कि मैच ऑफिशियल बताए गए थे , तभी खेले  वे। 
 जोंस दोनों पारी में नाकामयाब रहे और टीम से निकाल दिए गए। इंग्लैंड ने उन्हें फिर और कोई मैच नहीं खिलाया।इसे तो जोंस ने अपनी किस्मत समझ लिया पर गड़बड़ ये हुई कि  ICC ने  बाद में रैस्ट  ऑफ़ द वर्ल्ड वाले मैचों को ऑफिशियल मानने से इंकार कर दिया यानि कि जोंस टैस्ट क्रिकेटर बने और फिर उनका नाम टैस्ट  क्रिकेटरों कि लिस्ट से  कट गया। इससे ख़राब किस्मत और क्या होगी? कुछ और खिलाड़ियों ने भी उस सीरीज में डेब्यू किया पर चूँकि वे बाद में ऑफिशियल  टैस्ट खेल गए इसलिए उन्हें ज्यादा फर्क नहीं पड़ा।  सभी खिलाड़ियों का टैस्ट रिकॉर्ड बदलना पड़ा था। 
जोंस   के नाम फर्स्ट क्लास क्रिकेट में उस क्रिकेटर के सबसे ज्यादा रन (36049 )का रिकॉर्ड है , जो कभी टेस्ट नहीं खेले।इन मैचों से ऑफिशियल का दर्ज़ा छीनना ICC के आज तक  के सबसे विवादास्पद फैसलों में से एक है। ढेरों बड़े खिलाडी खेले , रोमांचक मुकाबला हुआ सभी 5 टैस्ट में , पर ICC  पर कोई असर नहीं हुआ।  विज़डन ने लड़ाई लड़ी और वे रिकॉर्ड में इन मैचों को ऑफिशियल गिनते रहे पर आखिर में उन्हें भी अपने रिकॉर्ड ठीक करने पड़े। 
इसी गलती को अब इंग्लैंड ने एक अलग अंदाज़ में सुधारा। इंग्लैंड ने अब जोंस की  निराशा कुछ कम की। वे मैच तो   इंग्लैंड वाले  ऑफिशियल नहीं बनवा पाए पर उस लॉर्ड्स मैच की 50 वीं वर्षगांठ पर ,जोंस को अपना ‘ टैस्ट ‘क्रिकेटर गिनकर , इस समय जो अगला नंबर 696 उपलब्ध था,  उसकी कैप दे दी। मजे की बात ये कि जब 1970 वाले मैच से ऑफिशियल टैस्ट का दर्ज़ा छिना था तो इंग्लैंड वालों ने  उनसे लॉर्ड्स में  दी कैप वापस मांगी थी । जोंस ने कह दिया कि खो गई , हालांकि सच्चाई सब जानते थे। अब जोंस बिना डर इंग्लैंड कैप लगा सकते हैं। वे 81  साल के हैं और बड़े खुश हैं अपनी नई  कैप के साथ। 
हाँ, इस किस्से ने 1970 वाले मैचों को ऑफिशियल दर्ज़ा देने की बहस फिर शुरू कर दी है। 
– चरनपाल सिंह सोबती

SPORTSNASHA
www.sportsnasha.com is a venture of SRC SPORTSNASHA ADVISORS PVT LTD. It is a website dedicated to all sports at all levels. The mission of website is to promote grass root sports.
http://www.sportsnasha.com