एक ऑलराउंडर की बेहतरीन क्रिकेट की इससे बेहतर मिसाल और कौन सी ?


मानचेस्टर  टेस्ट  जीतकर इंग्लैंड ने वेस्टइंडीज के खिलाफ टेस्ट सीरीज को रोमांचक बना दिया क्योंकि सीरीज का स्कोर 1-1 हो गया। इंग्लैंड की  वापसी का श्रेय किसी एक खिलाड़ी को देना गलत होगा पर जिस एक खिलाड़ी ने इस जीत में सबसे ख़ास भूमिका निभाई वे बेन स्टोक्स हैं। बात इतनी ही नहीं , स्टोक्स ने   ऑलराउंडर की परिभाषा को बिलकुल सही साबित कर दिया – ऐसा खिलाड़ी जो किसी भी भूमिका में मैच को टर्निंग पॉइंट देने का दम  रखता हो।  
पहली पारी में टीम संकट में थी तो 176 में पहले 100  रन 255 गेंद में,  दूसरी पारी में जब वेस्टइंडीज को जीत का टारगेट देने के लिए तेज रन की जरूरत  तो पहली बार ओपनिंग की –  57 गेंद में 78 * बना दिए।   जो 3 विकेट लिए उनमें दोनों पारी में एक-एक विकेट ऐसा जिसने वेस्टइंडीज की पारी को झटका दिया। मैच विनर – बेन स्टोक्स।  
इसीलिए  टेस्ट पर उनकी क्रिकेट के प्रभाव  को देखकर कप्तान  रुट ने कहा -‘  उनमें लगातार ऐसा ही खेलने की योग्यता है। उनके लिए आकाश ही सीमा है। अद्भुत क्रिकेट खेली।  ‘ 
नतीजा ? जो स्टोक्स मौजूदा विजडन ट्रॉफी सीरीज शुरू होने के समय 

ICC की ऑलराउंडर टेस्ट रैंकिंग  में जेसन होल्डर से  54  अंक पीछे थे ,  सीरीज के पहले दो टेस्ट के बाद उनसे    38  अंक से आगे निकल चुके हैं । इसी से  रैंकिंग  में  नंबर 1  ऑलराउंडर बन गए – इस समय  497  रेटिंग अंक पर  और ये जेकस केलिस  के  517 ( अप्रेल  2008) के बाद किसी भी .ऑलराउंडर के सबसे ज्यादा   रेटिंग अंक हैं। यहाँ तक कि  टेस्ट बल्लेबाज़ की रैंकिंग में नंबर 3   हैं – लाबुशेन के बराबर और सिर्फ स्टीव स्मिथ एवं विराट कोहली उनसे ऊपर।  

मानचेस्टर  टेस्ट   में   254 रन की बल्लेबाज़ी में जहाँ पहली पारी में अपने सबसे धीमे 100 का रिकॉर्ड बनाया वहीं दूसरी पारी में अपने सबसे तेज 50 का रिकॉर्ड बना दिया। पूरे टेस्ट में   413   गेंद और  585  मिनट की बल्लेबाज़ी  और 27 . 4   ओवर गेंदबाज़ी उनके दमखम की सही मिसाल हैं – बल्लेबाज़ी की थकान गेंदबाज़ी में कहीं नज़र नहीं आई और लगातार  135kmph की तेजी से गेंदबाज़ी कोई मज़ाक नहीं। 

स्टोक्स  का रिकॉर्ड-  65 टेस्ट में 4399  रन  38.58 औसत से जिसमें 10  स्कोर 100 वाले और  31.73 औसत से 156  विकेट  जिनमें 5 विकेट का रिकॉर्ड 4 बार ।  इस समय चर्चा जहाँ उनकी इयान  बॉथम से तुलना की है वहीँ कुछ जानकर तो उन्हें बॉथम से भी बेहतर बता रहे हैं। बॉथम  का रिकॉर्ड-  102  टेस्ट ,  5200 रन  33.54 औसत से जिसमें 14 स्कोर 100 वाले और  28.40 औसत से 383 विकेट  जिनमें 5 विकेट 27 बार और 10 विकेट 4  बार । 

जब बॉथम ने स्टोक्स के बराबर 65 टेस्ट खेले थे तो 3704 रन बनाए थे 100 वाले 13  स्कोर के साथ और साथ में 284 विकेट । 

जब माइक ब्रेयरली की कप्तानी में  बॉथम  टेस्ट जीतने वाली क्रिकेट खेल रहे थे  तो  माइक ब्रेयरली ने कहा था कि बॉथम टीम में हों तो कुछ भी नामुमकिन नहीं।   दोनों कप्तान की तारीफ में भी कितनी समानता है। 

-चरनपाल सिंह सोबती 

SPORTSNASHA
www.sportsnasha.com is a venture of SRC SPORTSNASHA ADVISORS PVT LTD. It is a website dedicated to all sports at all levels. The mission of website is to promote grass root sports.
http://www.sportsnasha.com